अन्य
    Tuesday, June 18, 2024
    अन्य

      इरबा मदरसा के पूर्व नाजिम के जनाजे की नमाज में उमड़ा जन सैलाब, हुए सपुर्द ए खाक

      ओरमांझी (मोहसिन आलम)। राँची जिला के प्रसिद्ध मदरसा मजहरूल उलूम इरबा के पूर्व नाजिम सह विख्यात आलिम ए दींन हजरत कारी अमालुद्दीन नक्शबंदी रहमतुल्लाह 48 वर्षिय का इंतकाल सोमवार की रात लगभग 10 बजे हो गया।

      People gathered in the funeral prayers of the former Nazim of Irba Madrasa he was laid to rest 2उन्होंने मेदान्ता अस्पताल इरबा में अंतिम सांस ली। वह काफी सालों से बीमार चल रहे थे। जैसे ही क्षेत्र के लोगों को उनके इंतकाल की खबर पहुंचा। काफी संख्या में उनके चाहने वाले मेदांता अस्पताल पहुंचे और संवेदना व्यक्त किया।

      इसके बाद हजरत वाला का पाक पवित्र शव को मरहूम के घर इरबा मदरसा मोहल्ला लाया गया। जहां हजरत वाला का अंतिम दीदार के लिए रांची ही नहीं बंगलौर, बेगुरराय, बिहार जमशेदपुर, धनबाद, लोहरदगा, रामगढ, चतरा, गुमला, कोडरमा, बंगाल सहित दर्जनों जिलों के लोग पहुंचे और उनके जनाजे में शामिल हुए।

      जैसे ही उनके घर से जनाजा उठा, सैकड़ो लोग जनाजे में शामिल होकर जनाजे को कंधा देने लगे। जनाजा मरहूम के घर से निकल कर मदरसा मजहरुल उलूम लाया गया।

      फिर जोहर के नमाज बाद मरहूम को राँची रामगढ मुख्य मार्ग होते हुए इरबा अब्दुल कय्यूम अंसारी मिडिल स्कूल पहुंचा गया। जहाँ उनके जनाजे की नमाज अदा की गई।

      जनाजे की नमाज इरबा जामा मस्जिद के इमाम व खतीब मुफ्ती अबु उबैदा ने पढ़ाई। जिसके बाद इरबा कब्रिस्तान में मरहूम को नम आंखों से सपुर्द ए खाक किया गया।

      जनाजे की नमाज में इरबा अंजुमन मरकज़ी कमिटि के सदर इम्तियाज ओहदार, उप प्रमुख रिजवान अंसारी, विधायक प्रतिनिधि स्फीउलाह अंसारी, कोडरमा से पहुँचे कारी अकरम कासमी, मुफ्ती अनवर कासमी, असगर मिस्बाहुल कासमी, मौलाना तलहा नदवी, मौलाना अब्दुल हकीम नदवी, कारी महताब साहब, मौलाना साबिर हुसैन, कारी सोयब, इरबा मदरसा के नाजिम मुफ़्ती इमरान नदवी, मुफ्ती वसिरह्मान नदवी, मौलाना समीउल्ल हक कासमी, कारी मोईन, हाफिज सईद अहमद समेत 15 हजार से अधिक लोग सामिल थे।

      संबंधित खबरें