अन्य
    Thursday, April 25, 2024
    अन्य

      इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट के पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन के आयोजन में आई तेजी

      रांची दर्पण डेस्क। इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (आईएसटीडी) का दो दिवसीय पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन 19 और 20 अप्रैल, 2024 को सीसीएल, दरभंगा हाउस, राँची के कॉन्फ्रेंस हॉल में आयोजित किया जाएगा। आईआईएम, राँची इस पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन का नॉलेज पार्टनर है।

      Organization of Eastern Regional Conference of Indian Society for Training and Development gained momentum 2सम्मेलन का विषय “Empowering HR for Embracing New Technology for Sustainable Development” है। इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण “Artificial Intelligence and new vistas of Technology in Human Resources” (“मानव संसाधनों में कृत्रिम बुद्धिमत्ता और प्रौद्योगिकी के नए दृष्टिकोण”) होगा । यह मानव संसाधन पेशे में एक नया विषय है जो विशेष रूप से प्रतिभागी दर्शकों को मानव संसाधन क्षेत्र में नए बदलावों के बारे में बताएगा।

      राजधानी राँची में प्रतिष्ठित इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (आईएसटीडी) के पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन के आयोजन के लिए एक बैठक 20 फरवरी को सीसीएल, दरभंगा हाउस, राँची के सम्मेलन कक्ष में श्री हर्ष नाथ मिश्र, निदेशक (कार्मिक), सीसीएल की अध्यक्षता में आयोजित की गई। ज्ञात हो कि श्री हर्ष नाथ मिश्र आईएसटीडी, राँची चैप्टर के संरक्षक और आयोजन समिति के अध्यक्ष भी हैं। श्री अरुण कुमार शुक्ला, पूर्व-सीएमडी, एचसीएल और इस सम्मेलन की संचालन समिति के प्रमुख, और डॉ. कामाक्षी रमन कार्यकारी निदेशक, आईआईसीएम और सह-अध्यक्ष सम्मेलन आयोजन समिति भी बैठक में उपस्थित थे।

      इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट, राँची चैप्टर का यह मेगा इवेंट राजधानी शहर में होगा जो मानव संसाधन विकास के क्षेत्र में शैक्षणिक अनुभव और ज्ञान साझाकरण को समृद्ध करेगा। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय स्तर के और मानव संसाधन विकास के क्षेत्र में बड़े ख्याति प्राप्त कुछ प्रमुख वक्ताओं के भाग लेने की उम्मीद है।

      सम्मेलन से मानव संसाधन विकास के क्षेत्र में काम करने वाले पेशेवरों के साथ-साथ राँची और उसके आसपास चल रहे विभिन्न सरकारी और निजी विश्वविद्यालयों के छात्रों और शिक्षाविदों को भी बहुत लाभ होगा, जो सम्मेलन में भाग ले सकते हैं और ज्ञान साझाकरण सत्र से लाभ उठा सकते हैं।

      आईएसटीडी के राष्ट्रीय परिषद सदस्य और पूर्व जीएम, आईआईसीएम श्री एन के ओझा, जो मुख्य रूप से आईएसटीडी राँची चैप्टर के सहायक और मार्गदर्शक हैं, ने 19 और 20 अप्रैल को आयोजित होने वाले सम्मेलन का विस्तृत कार्यक्रम प्रस्तुत किया। उन्हें आईएसटीडी के एक अन्य राष्ट्रीय परिषद सदस्य श्री रमन बल्लभ द्वारा सहायता प्रदान की गई।

      बैठक में श्री जी डी गुलाब (पूर्व निदेशक (कार्मिक), महानदी कोल फील्ड्स लिमिटेड), डॉ. प्रभास चंद्र मिश्रा (पूर्व कार्यकारी प्रमुख, आईआईसीएम) श्री एस.के.सेनापति, उप महाप्रबंधक, एनटीपीसी, सुश्री रश्मी दयाल, पूर्व-जीएम (कार्मिक), सीसीएल, डॉ. हरि हरण (पूर्व-जीएम, एमटीआई, सेल), श्री एस.के. ठाकुर, जीएम-सीसीएल, डॉ. अमर तिग्गा, डीन एक्सआईएसएस, रांची, श्री शिवाजी कुमार, सचिव, आईएसटीडी, श्री मिथिलेश उपाध्याय, प्रिंसिपल आईटीआई, मैती, श्री आशुतोष मिश्रा, कोषाध्यक्ष, आईएसटीडी, श्री मोहित जैन, आईआईसीएम, सुश्री रेखा पांडे और अर्चना सिन्हा  उपस्थित थे।

      बैठक में कई अहम फैसले लिये गए। श्री हर्ष नाथ मिश्र ने विशेष रूप से राय दी कि अब इस पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन को सफल बनाने के लिए इसके आयोजन में गति आनी चाहिए।

      बहुत जल्द मीडिया और अपेक्षित प्रतिभागी को कार्यक्रम के बारे में जागरूक करने के लिए एक औपचारिक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की जाएगी और इससे विशेष रूप से राँची और उसके आसपास के शिक्षाविदों, पेशेवरों और छात्रों को लाभ होगा जो इस कार्यक्रम और ज्ञान साझाकरण सत्र से लाभ उठा सकते हैं।

      यह जानकारी पूर्वी क्षेत्रीय सम्मेलन के मीडिया समिति सदस्य श्री विवेक कृष्ण द्वारा प्रदान की गई।

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=tE_9yNsCASU[/embedyt]

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=iYbrIdxZdyk[/embedyt]

      [embedyt] https://www.youtube.com/watch?v=zZe0-cHUnak[/embedyt]

      सांसद संजय सेठ का प्रयास रंग लाया, 150 टन का कचरा संधारण प्लांट तैयार

      मोरहाबादी मैदान में होगा राष्ट्रीय जतरा महोत्सव का भव्य आयोजन, 785 जनजातीय समुदाय का होगा जमावड़ा

      ओरमांझी के युवा भाजपा नेता आशीष साहू पर यूपी में जानलेवा हमला की जांच शुरू

      धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा जयंती पखवाड़ा समारोह में पहुँचे अर्जुन मुंडा

      झारखंडी महाजतरा में 31 जनवरी और 1 फरवरी को होगा खोड़हा मंडलियों का समागम

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!