अन्य
    Friday, May 17, 2024
    अन्य

      CM हेमंत सोरेन ने ऊर्जा विभाग के अपर मुख्य सचिव को दिए निर्देश, कहा- किसी हाल में न हो बिजली कटौती

      Jharkhand Power Supply राज्य में गर्मी के कारण बिजली की मांग में बढ़ोतरी हो रही है। इसकी वजह से लोड शेडिंग की नौबत आ रही थी। मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लिया है। उन्होंने ऊर्जा विभाग के अपर मुख्य सचिव से बातचीत कर बिजली की अद्यतन स्थिति की जानकारी ली।

      रांची, राज्य ब्यूरो: राज्य में गर्मी के कारण बिजली की मांग में बढ़ोतरी हो रही है। इसकी वजह से लोड शेडिंग की नौबत आ रही थी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसे गंभीरता से लिया है।उन्होंने शुक्रवार को ऊर्जा विभाग के अपर मुख्य सचिव अविनाश कुमार से बातचीत कर बिजली की अद्यतन स्थिति की पूरी जानकारी ली। अपर मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि बिजली की मांग बढ़ गई है।

      किसी हाल में न हो बिजली की कटौती

      इसकी वजह से राज्य भर में 300 से 400 मेगावाट तक अतिरिक्त बिजली की आवश्यकता है। आपूर्ति को सुचारू रखने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।

      लोड शेडिंग की भी नौबत आ रही है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि बिजली की मांग बढ़ी है तो इसकी व्यवस्था की जाए। बाहर से बिजली लेकर राज्य में आपूर्ति करें।

      अगले तीन महीने की योजना बनाकर 600 मेगावाट अतिरिक्त बिजली की व्यवस्था करें। इसमें राशि की कमी आड़े नहीं आएगी।

      राशि लगती है तो लगे, लेकिन बिजली की कटौती किसी हाल में नहीं हो। राज्य की जनता को बिजली अबाधित रूप से मिलती रहे, इसकी व्यवस्था की जाए।

      600 मेगावाट बिजली खरीदने के निर्देश

      मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से निर्देश के बाद ऊर्जा विभाग के अपर मुख्य सचिव सह ऊर्जा विकास निगम के सचिव अविनाश कुमार ने बिजली वितरण निगम को अविलंब 600 मेगावाट बिजली खरीदने के निर्देश दिए हैं।

      अधिकारियों के प्रयास से शुक्रवार को शाम तक 140 मेगावाट अतिरिक्त बिजली एनर्जी एक्सचेंज से मिली। फिलहाल 600 मेगावाट अतिरिक्त बिजली उपलब्ध नहीं है।झारखंड बिजली वितरण निगम ने एनर्जी एक्सचेंज को आवश्यकता से अवगत करा दिया है। एनर्जी एक्सचेंज की ओर से कहा गया है कि इसकी उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!