अन्य
    Tuesday, June 18, 2024
    अन्य

      चेड़ी सोहराई जतरा मेलाः सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ पढ़ाई भी जरूरी

      ओरमांझी (रांची दर्पण)। आज शुक्रवार को अनगड़ा प्रखण्ड के गेतलसूद में चेड़ी सोहराई जतरा समिति के तत्वाधान में आयोजन किया गया।

      इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित प्रदेश उपाध्यक्ष आदिवासी कांग्रेस झारखंड, डॉक्टर बिरसा उरांव ने जतरा में सांस्कृतिक कार्यक्रम का उद्घाटन फीता काटकर किया और कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ साथ पढ़ाई भी जरूरी है। जतरा का मुख्य उद्देश्य अपनी संस्कृति, सभ्यता को आगे बढ़ाने के साथ-साथ समाज में भाईचारगी को मजबूती प्रदान करना है।

      उन्होंने कहा कि जतरा आपसी रिश्तो को और भी प्रगाढ़ करता है। जतरा में सभी वर्गों की भागीदारी होती है। जो समाज में अमन चैन का संदेश देती है।

      उन्होंने कहा कि जतरा आदिवासियों की पहचान है। जतरा के माध्यम से समाज को एकजुट करने का सार्थक पहल भी होता है।

      वहीं प्रखण्ड प्रमुख दीपा उरांव ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में आदिवासी महिलाओं ने इस संस्कृति को विशेष रूप से बचाने का काम किया है। इसे संगठित होकर अपने सामाजिक व्यवस्था को मजबूत करना होगा।

      मौके पर मुख्य रूप से अध्यक्ष मिंटू उरांव, दिनेश प्रमाणिक, रवि किशोर उरांव, ग्राम प्रधान जितेंद्र उरांव, अनिता गाड़ी, प्रेमनाथ उरांव, सुकरा उरांव, रणबीर कुजूर, सुरेंद्र उरांव, अजय उरांव, पाहन सोमा उरांव, प्रेम उरांव, शिव दास गोस्वामी, सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे।

      1 COMMENT

      Comments are closed.

      संबंधित खबरें