अन्य
    Thursday, April 25, 2024
    अन्य

      25 लाख का इनामी नक्सली विमल यादव ने बढ़ते पुलिस दवाब के बीच किया सरेंडर

      राँची दर्पण डेस्क। झारखण्ड में माओवादियों के स्पेशल एरिया कमेटी सदस्य 25 लाख का इनामी नक्सली विमल यादव उर्फ राधेश्याम उर्फ उमेश यादव ने आत्मसमर्पण कर दिया।

      आज शुक्रवार को राँची जोनल आईजी कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम के दौरान विमल यादव ने आईजी अभियान एवी होमकर, राँची जोनल आईजी पंकज कंबोज, डीआईजी एसटीएफ अनूप बिरथरे, राँची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा सीआरपीएफ के अधिकारियों के समक्ष सरेंडर कर दिया।

      जानकारी के अनुसार वह अपनी छत्तीसगढ़ की रहने वाली प्रेमिका से प्रेरित होकर सरेंडर कर दिया। विमल यादव मूल रूप से बिहार के जहानाबाद का रहने वाला है।

      बूढ़ा पहाड़ पर एक करोड़ के इनामी अरविंद की मौत के बाद वहां के नक्सलियों का नेतृत्व विमल यादव ने ही संभाल रखा था।

      जब बूढ़ा पहाड़ की जिम्मेदारी माओवादियों के शीर्ष नेतृत्व ने 25 लाख रुपये के इनामी स्पेशल एरिया कमेटी सदस्य मिथिलेश मेहता को मिली, तो विमल यादव से मिथिलेश मेहता की विवाद शुरू हो गया था।

      इसके बाद से ही विमल यादव को उसकी प्रेमिका हथियार डालने के लिए प्रेरित करने लगी। मिथिलेश मेहता से विवाद भी विमल के सरेंडर की वजह बना। विमल सितंबर 2021 महीने में ही पुलिस के सामने अनधिकृत रूप से सरेंडर कर दिया था।

      अफ्रीका के माली से राँची पहुंचे प्रवासी मजदूर, सीएम का जताया आभार
      मोरहाबादी कालू लामा हत्याकांड में सहयोगी समेत 2 शूटर गिरफ्तार
      राँची का अमूल्य धरोहर टैगोर हिल, जहाँ से रांची शहर का दिखता है अद्भुत नजारा
      क्षेत्रीय भाषा अतिक्रमण के विरोध में युवाओं ने की पदयात्रा, लगाए सरकार विरोधी नारे
      320 फीट की उंचाई से छलकती झारखंड का विश्व प्रसिद्ध हुंडरू जलप्रपात
      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!