अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन की माँग- ‘उपद्रवियों को रोकें, नही मानें तो बेहिचक ठोकें’

      राँची दर्पण डेस्क। आज राजधानी राँची शहर में जुम्मे की नमाज के बाद उपद्रवियों द्वारा पुलिस को निशाना बनाने पर झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश कुमार पांडेय ने कड़ी मांग की है।

      Ruckus balloting lathi charge firing on Ranchi Main Road in protest against Nupur Sharmas statement 6उन्होंने कहा कि उपद्रवियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई हो अन्यथा ये इसी प्रकार का अनावश्यक उपद्रव करते रहेंगे और हमारे पुलिस अफसर-कर्मी घायल होते रहेंगे। ऐसे मौकों पर पुलिस को ठोस और कठोर निर्णय लेने की जरुरत है।

      श्री पांडेय ने आगे कहा कि झारखंड पुलिस मेंस एसोसिएशन मांग करती है कि जवानों को घायल करने वाले उपद्रवियों को रोकें, नही मानें तो बेहिचक ठोकें, तभी जाकर इस तरह की भीड़ उकसाने वालों पर अंकुश लगाया जा सकेगा। हम जवान भी किसी के बेटे-भाई हैं

      बता दें कि बीजेपी नेता नूपुर शर्मा के बयान का राजधानी राँची के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भारी विरोध प्रदर्शन किया और भीड़ को नियंत्रित करने पहुंची पुलिस बल पर हमला बोल दिया।

      उपद्रवियों द्वारा किए गए पत्थरबाजी में रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा हुए घायल सेंटेवीटा अस्पताल में इलाज चल रहा है। सिटी एसपी, सिटी डीएसपी, कई थाना प्रभारी समेत कई जवान भी हुए घायल हैं।

      सबसे अधिक रांची के डेली मार्केट के पास हंगामा देखने को मिला। बढ़ती भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा। पुलिस ने जब लाठीचार्ज किया, तो भीड़ की ओर से पत्थर चलाये गए।

      पत्थरबाजी में पुलिस के कई जवानों को चोट लगी। भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज के बाद हवाई फायरिंग करनी पड़ी। उसके बाद ही भीड़ पर काबू पाया जा सका। प्रदर्शनकारी झंडा लेकर डेली मार्केट के सामने अल्बर्ट एक्का चौक की तरफ दौड़ने लगे

      जानकारी के अनुसार, मेन रोड में कुछ प्रदर्शनकारी नुपूर शर्मा की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। इसके बाद वे हाथ में काला और धार्मिक झंडा लेकर डेली मार्केट के सामने अल्बर्ट एक्का चौक की तरफ दौड़ने लगे।

      उन्हें रोकने के लिए पुलिस भी दौड़ी। इसी दौरान डेली मार्केट के पास पुलिस के साथ धक्का-मुक्की होने लगी। देखते-देखते भीड़ आक्रोशित हो गई और जमकर पत्थरबाजी हुई।

      इससे पहले मुस्लिम समुदाय से जुड़े व्यापारियों ने कहा कि कई नेता अपने विवादित बयानों से देश का माहौल खराब कर रहे हैं। ऐसे में हमारा विरोध करना बिल्कुल जायज है।

      सड़क पर उतर कर विरोध कर रहे लोगों को कहना था कि जिस तरह का बयान नूपुर शर्मा के द्वारा दिया गया है, वह निंदनीय ही नहीं अपराध है। यदि ऐसे बयान देने वाले लोगों पर सरकार कार्रवाई नहीं करती है, तो मुस्लिम समाज के लोगों में आक्रोश और भी ज्यादा देखने को मिलेगा।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!