अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      झारखंड हाईकोर्ट के वकील राजीव कुमार की गिरफ्तारी से नहीं है लेना-देना : रांची पुलिस

      रांची दर्पण डेस्क। झारखंड हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार की गिरफ्तारी मामले पर रांची पुलिस ने सोमवार को बयान जारी किया है। इसके तहत पुलिस ने कहा है कि राजीव कुमार की गिरफ्तारी से रांची पुलिस का कोई लेना देना नहीं है।

      रांची पुलिस ने कोलकाता पुलिस को किसी तरह की इनपुट देने से इन्कार किया है। साथ ही बताया जा रहा है कि अधिवक्ता राजीव कुमार के खिलाफ रांची के थाने में किसी तरह का मामला दर्ज नहीं है। ऐसे में साफ है कि यह गिरफ्तारी कोलकाता पुलिस ने खुद की है।

      दरअसल कुछ मीडिया रिपोर्ट में यह खबर प्रकाशित की है कि अधिवक्ता राजीव कुमार की गिरफ्तारी झारखंड पुलिस की सूचना पर की गई है। जबकि, कोलकाता पुलिस के द्वारा की गई कार्रवाई में रांची पुलिस की कोई भूमिका नहीं है।

      क्योंकि, रांची पुलिस के द्वारा उक्त गिरफ्तारी के संबंध में न तो कोलकाता पुलिस से कोई अनुरोध किया था और न ही यह गिरफ्तारी, रांची पुलिस से संबंधित किसी मामले में की गई है। न तो यह गिरफ्तारी रांची पुलिस के किसी मामले में की गई है।

      कोलकाता पुलिस ने अधिवक्ता को किया गिरफ्तारः झारखंड हाईकोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव कुमार को कोलकाता पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

      मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, राजीव कुमार के पास से लाखों रुपए कैश बरामद हुए हैं। उन सभी पैसों को जब्त कर लिया गया है। जब्त पैसे की जांच की जाएगी।

      बता दें, राजीव कुमार झारखंड हाईकोर्ट के जाने-माने वकील हैं। हालांकि, 50 लाख रुपए नकद के साथ पुलिस ने अधिवक्ता को गिरफ्तार किया है। कोलकाता पुलिस ने इसकी पुष्टि की है।

      अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य किया बहिष्कारः इधर, हाईकोर्ट के अधिवक्ता राजीव कुमार को हिरासत में लिए जाने का भारी विरोध हो रहा है। अधिवक्ताओं ने आक्रोश जताते हुए न्यायिक कार्य का बहिष्कार कर दिया।

      झारखंड हाईकोर्ट एडवोकेट एसोसिएशन की आपात बैठक में यह फैसला लिया गया। अधिवक्ता राजीव कुमार के गिरफ्तारी को हाईकोर्ट में हेवियस कॉरपस दाखिल किया गया है। वहीं मामले की 11:30 बजे सुनवाई होगी।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!