कोरोना की दहशतः रिम्स में आम मरीजों की भर्ती-सर्जरी पर रोक, बढ़ी परेशानी

रांची दर्पण डेस्क। झारखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल राजेन्द्र इन्सट्युट ऑफ मेडिकल साईंस (रिम्स / RIMS)  में सामान्य मरीजों की भर्ती और सर्जरी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है।

यह निर्णय आज बुधवार को विभागाध्यक्षों और कोविड टास्क फोर्स के सदस्यों के साथ हुई बैठक में कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामले को देखते हुए रिम्स प्रबंधन की तरफ से यह निर्णय लिया गया है।

रिम्स के प्रवक्ता डॉ. डीके सिन्हा के अनुसार हॉस्पिटल का तीन हिस्सा मैन पावर कोविड के इलाज में लगा है। जितने भी वार्ड हैं हर जगह कोविड वार्ड बनाए जा रहे हैं। ऐसे में मरीजों को भर्ती करना खतरे से खाली नहीं होगा। इसी के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है।

उन्होंने कहा कि रिम्स में एक दर्जन से अधिक वार्ड हैं, जहां हर रोज करीब 1000 मरीजों का इलाज होता है। सबसे ज्यादा मरीज कार्डियोलॉजी विभाग में एडमिट होते हैं लेकिन अब वहां भी रोक लगा दी गई है।

उन्होंने बताया कि विभिन्न विभागों में गंभीर मरीजों का इलाज जारी रहेगा। अगर किसी को भी गंभीर बीमारी है या सर्जरी की इमरजेंसी होती तब ऐसी परिस्थिति में रिम्स में उन्हें भर्ती किया जाएगा।

बता दें कि  रिम्स में रांची समेत राज्य के अनेक जिलों से मरीज इलाज कराने पहुंचते हैं। यहाँ न सिर्फ झारखंड के बल्कि इसके आसपास के पड़ोसी राज्यों के लोग भी बेहतर इलाज और उपचार की उम्मीद लिए आते हैं।

जाहिर है कि रिम्स प्रबंधन के इस फैसले से आम मरीजों की परेशानी बढ़ जाएगी।

एक नज़र