अन्य
    Saturday, July 13, 2024
    अन्य

      फ्लोरेंस कॉलेज ऑफ नर्सिंग इरबा में बीएससी फोर्थ ईयर के 38 छात्र-छात्राओं को दी गई विदाई

      ओरमांझी (एहसान राजा)। फ्लोरेंस कॉलेज ऑफ नर्सिंग इरबा मे फेयरवेल कार्यक्रम आयोजित किया गया। जहां पर कॉलेज में शिक्षा ग्रहण कर रहे बीएससी नर्सिंग के पांचवें बैच के छात्र छात्राओं को 4 ईयर्स कम्पिलिट होने पर विदाई दिया गया।

      Farewell given to 38 students of BSC Fourth Year at Florence College of Nursing Irba 1विदाई समारोह का शुभारंभ दीप प्रज्वलित कर व अतिथियों को गुलदस्ता देकर किया गया वहीं बीएससी नर्सिंग फोर्थ ईयर के छात्र छात्राओं को तिलक लगाकर व गुलाब देकर अभिनंदन किया गया मौके पर छात्र-छात्राओं ने आकर्षक रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया।

      कार्यक्रम में इस अवसर पर बीएससी नर्सिंग फोर्थ ईयर के छात्र- छात्राओं ने अपने 4 साल के अनुभवों को साझा किया और कहा कि कॉलेज के डायरेक्टर टीचर हमेशा अपने अभिभावक की तरह हम लोगों की देख रहे करते थे।

      किसी ने कहा कि अनुशासन से रहने का हमें सीख मिला जिससे जीवन काफी शांत था तो किसी ने खाने पीने के बेहतर अनुशासित और हॉस्टल की तारीफ किया।

      मौके पर छात्र -छत्राओं के आंखों से आंसू भी छलकते देखे गए। क्यों ना छलके 24 घंटे 4 साल तक एक साथ रहने के बाद देश के अलग अलग जगहों में जाकर रहना होगा जो छात्र-छात्राएं अपने मां-बाप को छोड़ छाड़ कर आ कर अपने दोस्तों के साथ रह कर पढ़ाई कर रहे थे कुछ ही पलों में वह एक दूसरे से दूर हो रहे थे।

      कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पहुँचे रांची सदर थाना के प्रभारी इंस्पेक्टर श्याम किशोर महतो छात्रों को आशीर्वाद देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना कीऔर कहा कि अनुशासन जीवन ही सफलता की कुंजी होती है छात्र-छात्राए जहां भी रहे अपना व्यवहार से लोगों का दिल जीतने की कोशिश करें नर्सिंग की सेवा ही एक ऐसी सेवा है जो जीवन के प्रारंभिक अवस्था से मृत्यु के अंतिम क्षण तक सेवा करने का अवसर मिलता है।

      वहीं उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हाजी एहसान अंसारी ने क्षेत्र में जो शिक्षा का अलख जगाया है,इससे लोग काफी लाभान्वित हो रहे हैं कॉलेज से शिक्षा ग्रहण करके विधार्थी देश के कोने कोने में चिकित्सा के क्षेत्र में सेवाएं दे रही हैं। वहीं उन्होंने विद्यार्थियों से कहा कि जहां भी रहे अपने कार्य कुशल से अपने मां-बाप और कालेज का नाम रोशन करें।

      वहीं कॉलेज के सचिव जीनत कौशर अपने संबोधन में कहा कि हमारा कालेज पूरे झारखंड में अपना नाम रोशन करने में सफल हुआ है। इसका श्रेय छात्र-छात्राओं एवं टीचरों को जाता है क्योंकि उन्हीं के सहयोग से कालेज इस मुकाम तक पहुंचा है।

      कॉलेज के निदेशक डॉ शाहीन कौशर ने कहा कि आज आप सभी उपस्थित छात्र- छात्राएं ऐसे द्वार पर खड़े हैं जिनके खुलते ही आप उस समाज मैं कदम रखते हैं जहां शारीरिक सुख से अलग हट के कोई और भी दुनिया है। जहां आपको गर्व से खड़ा होना होता है। सच्ची लगन से रहना और डेट  विश्वास से बने रहता है लोगों की सेवा में डटे रहना है। वहीं छात्र छात्राओं ने मानवता की सेवा करने का भी संकल्प लिया जिन्हें उपहार स्वरूप गिफ्ट देकर सम्मानित भी किया गया।

      वहीं कॉलेज के बीएससी नर्सिंग के 38 छात्रों का केपस सिलेक्शन विभिन्न जाने माने हॉस्पिटलों में हुआ है जिनमें एशियन हॉस्पिटल धनबाद, मधुबनी मेडिकल कॉलेज- बिहार, रानी हॉस्पिटल-राँची, एच. सी. जी. कैंसर हॉस्पिटल-ईरबा, पारस हॉस्पिटल-पटना, शामिल है।

      इस तरह संस्थान प्रत्येक वर्ष 300 से अधिक छात्र-छात्राओं को रोजगार मुहैया कराने में सफल हो रहा है। इस तरह हम कह सकते है कि फ्लोरेंस कॉलेज ऑफ़ नर्सिंग शैक्षणिक व रोजगार का बेहतर संस्थान है।

      इस मौके पर मुख्य रूप से कालेज के उप-प्राचार्या विनिसा टी बंसरियार, विशिष्ट समाज सेवी-सत्तार अंसारी, अबू नसर, बिनीता खलखो, वर्षा कुमारी, माधुरी लिली दांग, सुधीर कुमार, शोएब अख्तर, जूली किस्कू, शिवानी तिर्की, सादिक अंसारी, सकील परवेज, हाजी मंसूर अंसारी, सुप्रिया कुमारी, शशि कुमार, अजहरुद्दीन, शाहनवाज सहित छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

       

      संबंधित खबरें
      एक नजर
      error: Content is protected !!