अन्य
    Saturday, July 13, 2024
    अन्य

      रांची यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन का नाम बदला

      राँची दर्पण डेस्क। रांची यूनिवर्सिटी का डिपार्टमेंट ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन के नाम को परिवर्तित कर दिया गया है। अब यह डिपार्टमेंट स्कूल ऑफ मास कम्युनिकेशन के नाम से जाना जायेगा।

      इसके अलावा यहां तीन नये कोर्स भी कराए जाएंगे। यह कोर्स 3 वर्षीय बीए इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन, दो वर्षीय एमए इन फिल्म स्टडीज एंड प्रोडक्शन प्रोग्राम और 1 वर्षीय पोस्ट ग्रैजुएट डिप्लोमा इन फिल्म स्टडीज एंड प्रोडक्शन प्रोग्राम है। आज रांची यूनिवर्सिटी के एकेडमिक काउंसिल की बैठक में यह निर्णय लिया गया।

      इसके साथ ही इन तीन कोर्स के सिलेबस के अनुमोदन को स्वीकृति प्रदान की गयी। इसके साथ ही 9 विभिन्न एजेंडा पर चर्चा की गयी। जिसमें डिपार्टमेंट ऑफ जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन के साथ-साथ आर्कियोलॉजी एंड म्यूजियोलॉजी विभाग के नाम को परिवर्तित करते हुए स्कूल ऑफ आर्कियोलॉजी एंड म्यूजियोलॉजी करने के प्रस्ताव पर सहमति प्रदान की गई।

      साथ ही यहां के अंडर ग्रेजुएट कोर्स आर्कियोलॉजी एंड म्यूजियोलॉजी के सिलेबस को स्वीकृति प्रदान की गयी। वहीं रांची विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित सभी पीजी डिपार्टमेंट के सिलेबस में आंशिक संशोधन करने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गयी।

      बिरसा कॉलेज खूंटी में संस्कृत, एंथ्रोपोलॉजी और सोशियोलॉजी विषय में स्नातक की पढ़ाई शुरू करने के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान नहीं की गयी।

      इसमें कहा गया कि पहले इन तीनों विषयों के लिए पद सृजित हो जाए फिर इस पर विचार किया जायेगा। वहीं भूगर्भ विज्ञान विभाग अंतर्गत 6 महीने के सर्टिफिकेट कोर्स शुरू करने संबंधी प्रस्ताव को अगली बैठक के लिए रखा गया है।

      वहीं डिपार्टमेंट ऑफ अर्थ एंड प्लेनेटरी साइंस या स्कूल ऑफ अर्थ एंड प्लेनेटरी साइंस के नाम से भूगर्भ विज्ञान को बदले जाने के प्रस्ताव को अस्वीकार कर दिया गया।

      हाईकोर्ट का आदेशः अब सीबीआई करेगी 34वें राष्ट्रीय खेल घोटाले की जांच

      झारखंड में पंचायत चुनाव का ऐलान, जाने कब कहाँ पड़ेंगे वोट, क्या है पूरी तैयारी

      UPSC की परीक्षाएं 10 अप्रैल को, आयुक्त कुलकर्णी ने गाइडलाइंस के पालन का निर्देश दिया

      गिरिडीह में डीसी ने आदिवासी समाज के साथ सरहुल मनाया, मांदर की थाप पर थिरके भी

      अब इस अहम कार्य को लेकर राँची डीसी से मिलना वर्जित, जानें क्या है मामला

      संबंधित खबरें
      एक नजर
      error: Content is protected !!