अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      पीएलएफआई के ये तीन हार्डकोर उग्रवादी पिस्टल-गोली के साथ पुलिस के हत्थे चढ़े

      खूंटी (राँची दर्पण)। प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के तीन उग्रवादियों को पुलिस ने सोमवार को तोरपा थाना क्षेत्र के दियांकेल से गिरफ्तार कर लिया।

      तीनों उग्रवादी पुलिस मुठभेड़ में मारे गये दो लाख का हार्डकोर उग्रवादी और संगठन के एरिया कमांडर मंगरा लुगुन के दस्ता के सदस्य हैं। पुलिस ने मंगलवार को तीनों को जेल भेज दिया।

      एसपी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि गिरफ्तार उग्रवादियों में दियांकेल सरना टोली निवासी ललित (22) तोपनो पुत्र एमन तोपनो, सरना टोली का ही अलबर्ट तोपनो (42) पुत्र मसीहदास तोपनो तथा दियांकेल बडरूटोली निवासी लुगुन (40) पुत्र अलेसयुस लुगुन शामिल हैं।

      बताया गया कि सोमवार देर रात पुलिस अधीक्षक अमन कुमार को गुप्त सूचना मिली कि तोरपा थाना क्षेत्र में दियांकेल बडरूटोली से सरना टोली के बीच एक निर्माणाधीन मकान के आसपास पीएलएफआई के कुछ उग्रवादी घूम रहे हैं।

      सूचना के सत्यापन और आवश्यक कार्रवाई के लिए एसपी ने तुरंत एएसपी अभियान के निदेशन में तोरपा के एसडीपीओ ओम प्रकाश तिवारी के नेतृत्व में एक छापेमारी टीम का गठन किया।

      टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए बडरूटोली व सरना टोली के रास्ते से उक्त तीनों उग्रवादियों को गिरफ्तार कर लिया। उग्रवादियों के पास से एक देसी कट्टा, एक देसी पिस्टल, छह जिंदा कारतूस, संगठन का चंदा रसीद, बाइक, और चार मोबाइल बरामद किये गये।

      गिरफ्तार उग्रवादियों ने पुलिस को बताया कि वे मुठभेड़ में मारे गये इनामी एरिया कमांडर मंगरा लुगुन के दस्ते में पहले से सक्रिय थे। पकड़े गये उग्रवादियों की योजना वाहनों से लूटपाट करने की थी लेकिन इसके पहले ही वे पकड़े गये।

      छापेमारी टीम में एसडीपीओ ओम प्रकाश तिवारी, इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह, तोरपा थाना प्रभारी निशांत केरकेट्टा, एसआई महती बोपाई, अकबर अहमद खान, एएसआई सुदर्शन महतो सहित सशस्त्र बल के जवान शामिल थे।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!