अन्य
    Thursday, April 25, 2024
    अन्य

      जज उत्तम आनंद मौत की सीबीआई जाँच पर हाईकोर्ट नाराज, पूछा- क्यों मारेगा ड्राइवर?

      राँची दर्पण डेस्क। जज उत्तम आनंद की मौत मामले में एक तरफ जहाँ सीबीआई की टीम झारखंड पुलिस की जाँच को सूई की नोक भर भी आगे नहीं बढ़ा सकी है, वहीं हाईकोर्ट ने सीबीआई की जाँच की रफ्तार पर कड़ी नाराजगी जताई है।

      खबरों के मुताबिक धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत मामले में हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डॉ रवि रंजन और जस्टिस सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने सीबीआई की प्रगति रिपोर्ट देखने के बाद कड़ी नाराजगी जताई।

      खंडपीठ ने जांच एजेंसी से पूछा कि जांच केवल ऑटो ड्राइवर के इर्द-गिर्द ही क्यों घूम रहा है? एक ऑटो ड्राइवर किसी जज को क्यों मारेगा? इससे उसका क्या फायदा हो सकता है? कहीं इस ऑटो ड्राइवर के पीछे कोई बड़ी ताकत तो नहीं है?

      सीबीआई इस बिंदु पर भी जांच को आगे बढ़ाए। इस मामले की अगली सुनवाई अब 30 सितंबर को होगी। इसके साथ ही खंडपीठ ने सीबीआई को इस बिंदु पर जांच कर प्रगति रिपोर्ट पेश करने को कहा।

      गौरतलब है कि जज उत्तम आनंद 28 जुलाई को मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। तभी एक ऑटो ने उन्हें टक्कर मार दी थी। इससे उनकी मौत हो गई थी। उस समय जो सीसीटीवी फुटेज सामने आया, उसमें साफ दिख रहा था कि ऑटो वाले ने जज को जान-बूझकर टक्कर मारी है।

      सीबीआई के जोनल डायरेक्टर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट में पेश हुए। खंडपीठ ने प्रगति रिपोर्ट देखने के बाद असंतोष जताया।

      जोनल डायरेक्टर से कहा-प्रगति रिपोर्ट देखने से प्रतीत होता है कि सीबीआई जांच में आगे नहीं बढ़ पा रही है। अब तक दो लोगों की गिरफ्तारी हुई है। जांच वहीं की वहीं है।

      ऑटो चालक ने जज को टक्कर क्यों मारी, इसे सुलझाने का प्रयास भी नहीं दिख रहा है। जांच एजेंसी की ओर से सकारात्मक जवाब न मिलने पर कोर्ट ने निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि न्यायिक अधिकारी की मौत हुई है। मामले की तेजी से जांच हो और कुछ परिणाम सामने आए।

      इस पर जोनल डायरेक्टर ने कहा कि हर बिंदु पर जांच की जा रही है। पहले पुलिस जांच कर रही थी। फिर एसआईटी बनी।

      हाई कोर्ट ने खुद इस मामले में संज्ञान लेते हुए कहा था कि वह इस मामले की मॉनिटरिंग करेगा। अगर किसी भी वक्त ऐसा लगा कि जांच में कोताही बरती जा रही है तो यह मामला सीबीआई को दे दिया जाएगा। बाद में केस सीबीआई को सौप दिया गया।

       

       

      भाजपा नेता हत्याकांड की रेकी करने वाला गिरफ्तार, पुलिस को PLFI शूटर और मनोज मुंडा पर शक
      भाजपा नेता की हत्या के दूसरे दिन ओरमांझी में भारी उबाल, शव रखकर सड़क जाम
      एनएच-20 पर जीतराम की सरेआम हत्या से आक्रोशित भाजपाईयों ने किया शास्त्री चौक जाम
      दहशतः भाजपा नेता जीतराम मुंडा की चुटूपालु में सरेआम गोली मारकर हत्या
      JPSC की परीक्षा: एक कमरे में 12 तो दूसरे कमरे में 132 छात्रों ने दी परीक्षा ! क्या है राज़?

       

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!