अन्य
    Saturday, May 25, 2024
    अन्य

      क्रेसर-माइन्स संचालकों संग बैठक में पुलिस-प्रशासन की दो टूक

      रांची दर्पण (मोहसिन)। नई स्टोन क्रशर नीति से सरकार अवैध खनन पर अंकुश लगाने के साथ अपनी आय में बढ़ोतरी करना चाहती है। इसी उद्देश्य से  ओरमांझी थाना परिसर में  प्रशासनिक व पुलिस अफसरों के साथ क्रेशर-माईंस संचालकों की बैठक आयोजित की गई।

      अधिकारियों ने इस बैठक में क्रेशर से सरकार कैसे अपना आय में बढ़ोतरी करेगी, कैसे प्रवासी मजदूरों को  इस क्षेत्र में रोजगार देगी, जैसे अन्य विषयों के साथ बैठक में क्रेसर संचालकों की समस्याओं की जानकारी ली।ormanjhi police admin meeting 1

      क्रेशर संचालकों से पूछा गया कि क्षेत्र के लोग किसी तरह की रंगदारी या पैसा वसूली का काम तो क्रेशर संचालकों से नहीं करते है। कोई डराता धामका तो नहीं है। साथ ही अवैध क्रेशर व माइनिंग को रोकने व उन पर कड़ी कार्रवाई करने  की बात कही।

      सिल्ली डीएसपी चंद्रशेखर ने कहा कि अवैध तरीके से क्रेशर व पत्थरों की खदान चलाने वालों की अब खैर नहीं विशेष अभियान चलाकर सभी अवैध क्रशर एवं माइंड्स  को बंद किया जाएगा। पहाड़ों चट्टानों व पेड़ पौधों को काटकर क्रेशर संचालक  गलत तरीके से पर्यावरण को दूषित कर रहें हैं। जिसे बहुत जल्द अभियान के तहत बंद कर दिया जाएगा। ओरमांझी थाना क्षेत्र में अवैध शराब के कारोबार करने वालों की अब सीधे जेल की काल कोठरी ही ठिकाना होगा।

      अंचल अधिकारी शिव शंकर पांडेय ने मौके पर कहा कि प्रखंड में टोटल 16 क्रेशर संचालकों के पास सरकार द्वारा लाइसेंस है। इसके अलावा 100 से अधिक क्रेसर अवैध तरीके से चलाया जा रहे हैं।ormanjhi police admin meeting 2

      उन्होंने बताया कि टोटल 10  ईट भट्ठा ही लीगल है। इसके अलावा सभी ईट भट्ठा अवैध तरीके से चलाए जा रहे हैं। इसके अलावा 14 खदान ही लीगल है। इसके अलावा सभी अवैध तरीके से पत्थरों की कटाई  कर रहे हैं। जिसके लिए कई कई बार अभियान चलाकर उस पर कार्रवाई की गई है। अब विशेष अभियान चलाकर सभी अवैध क्रेसर व खदानों  को बंद किया जाएगा।  अब किसी तरह की कोई समझौता संचालको से नहीं होगी।

      थाना प्रभारी इंस्पेक्टर श्याम किशोर महतो ने कहा कि जहां भी अवैध तरीके से शराब भट्टी  चलाने की सूचना मिल रही है, उसे  बंद किया जा रहा है। अब 5 लीटर से अधिक  किसी के यहां शराब मिलता है तो उसे जेल भेजा जाएगा।

      स्टोन क्रेशर व माइनिंग संचालकों ने बताया कि अवैध क्रशर संचालकों द्वारा कम दामों में स्टोन बेचा जाता है। जिसके चलते लीगल संचालकों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है। अगर प्रशासन कड़ी कार्रवाई करें तो सभी अवैध क्रशर बंद हो जाएंगे। अवैध क्रेशरों व माइनिंग के चलते व्यापार में काफी घाटा सहना पड़ रहा है। 

      मौके पर सिकिदिरी थाना प्रभारी चंद्रशेखर सहित दर्जनों क्रेशर संचालक उपस्थित थे।

      संबंधित खबर
      error: Content is protected !!