27 जनवरी से राजभवन के सामने सपरिवार धरना पर बैठेंगे पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक

राँची दर्पण (एहसान राजा)। राज्य स्तरीय पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रदेश के पंचायत स्वयंसेवक 27 जनवरी से सपरिवार अनिश्चितकालीन धरना पर बैठेंगे।

मालूम हो कि सचिवालय पंचायत स्वयं सेवक द्वारा 7 दिसंबर 2020 को मुख्यमंत्री आवास का एक दिवसीय घेराव प्रदर्शन किया गया था। उस वक्त संघ 7 प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को मुख्यमंत्री आवास ले जाया गया था।

उस दिन मुख्यमंत्री के ओएसडी अशोक कुमार  से बात हुई थी कि मुख्यमंत्री के ओएसडी ने उन्हें आश्वासन दिया कि मुख्यमंत्री से वार्ता करा दिया जाएगा। लेकिन 7 दिसंबर को भी मुख्यमंत्री से लोगों को मुलाकात नहीं कराया गया।

ओएसडी के निर्देशानुसार उन्हें कहा गया कि आप 8 दिसंबर को आएं लेकिन ओएसडी ने  तारीख पर तारीख देते हुए न मुख्यमंत्री से उनकी मुलाकात कराई गई न ही आप्त सचिव सुनील श्रीवास्तव से कोई वार्ता और मुलाकात कराई गई।

ओएसडी अशोक कुमार  के इस रवैया से पंचायत स्वयंसेवकों में आक्रोश का माहौल व्याप्त है।

इस बाबत पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के  प्रदेश अध्यक्ष चंद्रदीप कुमार के द्वारा बताया गया कि बार-बार पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के प्रतिनिधि मंडलों को मुख्यमंत्री से मिलने के नाम पर टालमटोल किया जा रहा है।

पर अब हम लोग बात करने के लिए अब नहीं जाएंगे। अब सरकार के प्रतिनिधिमंडल को वार्ता करने के लिए धरना स्थल पर आना होगा। अगर प्रशासन के द्वारा मोराबादी में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन का परमिशन नहीं दिया गया, तो पूरे 18000 पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक के साथीगण अपने घर परिवार के साथ राजभवन के पास ही अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे।

संघ के द्वारा निर्णय लिया गया है कि 27 जनवरी से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन राजभवन के पास किया जाएगा।  इन सब का जिम्मेदार झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री माननीय हेमंत सोरेन होंगे।

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने विधानसभा के चुनाव के समय पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ के साथियों से भी वादा किये थे, अगर मेरी सरकार बनी तो मैं आप लोगों को भी स्थायी और मानदेय तय किया जायेगा।  एवं झारखंड से  अनुबंध, संविदा और आउटसोर्सिंग का नामोनिशान मिटा कर  सभी को स्थायी और मानदेय तय कर दिया जाएगा।

यह सरकार सभी संघ से वादा करके भूल गई और युवाओं बेरोजगारों को घोषणा करके बहुत बड़ा धोखा देने का काम किया है। अब झारखंड के सभी लोग इस सरकार के नीति और घोषणा को समझ चुके हैं। अब सभी लोग इस हेमंत सोरेन सरकार के खिलाफ आंदोलन करने को विवश हो चुके हैं।

प्रदेश अध्यक्ष चंद्रदीप कुमार ने कहा  कि अब इस सरकार के खिलाफ पंचायत सचिवालय स्वयंसेवक संघ झारखंड प्रदेश के द्वारा 27 जनवरी से  अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन पूरे परिवार के सदस्यों के साथ करेगी।

मुलाकात करने वाले में मुख्य रूप से प्रभात भूषण, रामसागर, संजीत प्रजापति, सच्चिदानंद, बिनीता, दिलीप, आनंद कुमार, संतोष महतो, रामदयाल एवं मनोहरपुर उपस्थित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

एक नज़र