चांडिल की टीम ने बड़ागाई टीम को ट्राइबेकर में 4/3 से हराकर गोल्ड कप फुटबॉल टूर्नामेंट ट्रॉफी पर जमाया कब्जा

राँची दर्पण (मोहसिन)। राजधानी रांची के कांके स्थित एग्रीकल्चर मैदान में खेले जा रहे फुटबॉल टूर्नामेंट का फाइनल मैच रविवार को सदान क्लब चांडिल और असजद स्पॉटिंग बड़ागाई के बीच खेला गया। जो काफी रोमांचक भरा रहा।

पूरे खेल के दौरान दोनों टीमें एक दूसरे पर लगातार अटैक पर अटैक करते रहे। मैच में 10 हजार से अधिक दर्शक फाइनल मैच के गवाह बने।

फाइनल मैच को लेकर लोग 12 बजे से ही मैदान में जुटना शुरू हो गए थे। मैच शुरू होने से पहले ही कहीं पैर रखने का जगह नहीं था लोग पेड़ों छतों पर चढ़कर मैच का आनंद ले रहे थे।

फाइनल मैच का उद्घाटन मुख्य अतिथि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश ,मांडर की पूर्व विधायक गंगोत्री कुजूर कांके के जिलाध्यक्ष सुरेश बैठा,हाजी अख़्तर, असफाक खान व अन्य अतिथियों द्वारा खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर व फुटबॉल को किक मार कर किया गया।

खेले गए फाइनल मैच में सफेद जोशी पहने उतरी चांडिल की टीम पीला कलर की जर्सी पहनकर उतरे बड़ागाई टीम दोनों एक दूसरे पर आखिरी समय तक भारी नजर आए मैच के समाप्ति तक दोनों टीमें बराबरी पर थे। मैच का आखरी फैसला ट्राइबेकर से हुआ,.02 जहाँ  चांडिल की टीम 4-3 गोल से विजय रही

मैच की समाप्ति पर उपविजेता टीम के शानदार  खिलाड़ी निखिल बाखला को मैन ऑफ द मैच व चांडिल टीम के गोलकीपर तरुण कुमार को मेन ऑफ द सिरजी का पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

वहीं आयोजन समिति यूथ क्लब की ओर से विजेता टीम को पुरस्कार स्वरूप  नगद 1 लाख 50 हजार रूपये व बड़ा कप और उप विजेता टीम को 1 लाख एक हजार रुपए व बड़ा कप देकर सम्मानित किया गया।

टूर्नामेंट के फाइनल मैच में मुख्य रूप से जिला परिषद सदस्य मुजबिल रहमान,टूर्नामेंट के संरक्षक रंजीत टोप्पो, संस्थापक अनिल टाईगर, अध्यक्ष अंजय बैठा, सचिव हनीफ अंसारी, संयोजक अजीजुल अंसारी,  सज्जाद अंसारी, सोहराई उरॉव, जमील अख्तर, का महत्वपूर्ण योगदान रहा।

एक नज़र