ओरमांझी बीडीओ ने स्वयंसेवकों को पंचायतवार मनरेगा का कार्यभार सौंपा

रांची दर्पण (एहसान)। ओरमांझी प्रखंड के सभी मनरेगा कर्मी लगभग एक महीना से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर है। जिसके कारण सरकार की सबसे महत्वपूर्ण योजना मनरेगा के काम ठप हो गए हैं।

झारखंड राज्य मनरेगा कर्मचारी संघ के सभी सदस्य अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर है। जिसके कारण ओरमांझी प्रखंड में सभी मनरेगा योजना पर ठप पड़ा हुआ है। इससे प्रखंड विकास की गति रुक सी गई है।

यह सब को देखते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी कुमार अभिनव स्वरूप द्वारा एक महीना पूर्व स्वयं सहायता समूह को रोजगार सेवकों के स्थान पर कार्य करने हेतु प्रति नियोजित किया गया था, परंतु इसके बावजूद मनरेगा कार्य में अपेक्षित प्रगति नहीं हो रही है।

इसीलिए व्यापक कार्य हित एवं प्रशासनिक दृष्टिकोण से सरकार के अंतर्निहित निर्देश के आलोक में ओरमांझी प्रखंड के स्वयंसेवकों को मनरेगा कार्य करने हेतु पंचायतवार पदभार दिया गया।

साथ ही सभी संबंधित पंचायत स्वयंसेवकों को आदेश दिया गया है, कि रोजगार सेवकों का पद को एवं गरिमा को संभाल कर रखेंगे। और सुचारू रूप से कार्य करेंगे।  

बारीडीह पंचायत में अलखनाथ महतो, करमा में नजमुल हक, चारू अकबर अंसारी, कुटे याहुशू तिर्की, इरबा तबारक हुसैन, ओरमांझी रयुम हुसैन, जयडिहा रमेश महतो, चुटुपालू शंकर मुंडा, इचादाग परमेश्वर गोप, बरवे अरविंद महतो, कुच्चु कामेश्वर महतो, हेंदेबिली मुबारक अंसारी, चकला मोहसिन रजा, सदमा नरेश प्रजापति, तुंदहुली सफिक अंसारी, चंद्रा बालक गंझू, पांचा रामा साहू, गागरी सकलदेव लिंडा ओरमांझी प्रखंड के सभी 18 पंचायत में स्वयंसेवकों को प्रति नियोजित किया गया।

एक नज़र