पूर्व सांसद ने बांटे औषधीय पौधे, कहा- ‘आर्युवेद ही सर्वसुलभ दवा’

0

युवा भारत द्वारा सभी घरों में गिलोय का पौधा लगाने एवं उसके लाभ के बारे में जानकारी के साथ ही कोरोना से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करते हुए उससे बचाव की जानकारी दिया गया

ओरमांझी (एहसान)। पतंजलि भारत स्वाभिमान के रांची जिला के युवा-भारत के प्रभारी  रणधीर कुमार चौधरी की अध्यक्षता में 4 अगस्त आचार्य बाल कृष्णा जी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर जड़ी-बूटी दिवस के रूप में मनाया गया।
आज ओरमांझी के दडदाग गांव में जड़ी-बूटी दिवस के मुख्य अतिथि पूर्व सांसद रामटहल चौधरी ने लोगों के बीच में जड़ी-बूटी औषधीय पौधा का वितरण किया एवं फलदार वृक्ष  लगाएं।
इस मौके पर उन्होंने लोगों को इसके लाभ की जानकारी देते हुए कहा कि आयुर्वेदिक दवा ही सबसे सुंदर एवं हर जगह सहज उपलब्ध दवा है। हर घर में गिलोय का पौधा, तुलसी का पौधा, नीम का पौधा, एलोवेरा का पौधा लगाने चाहिए।
उन्होंने गिलोय, जो अमृता के रूप में जाना जाता है, उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता के बारे में भी लोगों को जानकारी दी।
इस जड़ी-बूटी दिवस के कार्यक्रम में मुख्य रूप से जलेश कुमार महतो, अनिल कुमार महतो, नागेश्वर महतो, विश्राम महतो, शांति देवी, शिकारी महतो आदि लोग उपस्थित थे।