कुमारी किरण माला को मिला चकला मिडिल स्कूल का प्रभार

0

स्कूल की प्रधानाध्यापिका आशा अंजू खलखो का आकस्मिक म्रत्यु 2 जून को हो गया था जिसके बाद से स्कूल में प्रधान अध्यापिका का पद खाली था। जिसके चलते शिक्षकों को स्कूल की विधि व्यवस्था में काफी परेशानी हो रहा था

ओरमांझी (मोहसिन)। राजकीय मध्य विद्यालय चकला में प्रधान अध्यापिका पद पर कुमारी किरण माला ने पदभार ग्रहण कर लिया। प्रभारी प्रधानाध्यापिका पद पर पदभार संभालने पर स्कूल प्रबंधक समिति के अध्यक्ष अब्दुल कयूम अंसारी व स्कूल के टीचरों ने गुलदस्ता देकर बधाई दिया।

मौके पर प्रधान अध्यापिका पद पर पदभार करने के बाद प्रधानाध्यापिका ने कहा कि मुझे जो दायित्व दिया गया है। उसे पूरी ईमानदारी व निष्ठा पूर्वक निभाऊंगी।

प्रबंधक समिति के अध्यक्ष अब्दुल कयूम अंसारी ने कहा कि कुमारी किरण माला प्रधान अध्यापिका के योग शिक्षिका है। निश्चित तौर पर किरण को जो दायित्व दिया गया है उसे वह पूरी ईमानदारी के साथ अदा करेंगे स्कूल का नाम रोशन करेंगे। उन्होंने अन्य टीचरों से प्रधान अध्यापिका की हर संभव सहयोग करने की अपील की। 

ज्ञात हो कि स्कूल की प्रधानाध्यापिका आशा अंजू खलखो का आकस्मिक म्रत्यु 2 जून को हो गया था जिसके बाद से स्कूल में प्रधान अध्यापिका का पद खाली था। जिसके चलते शिक्षकों को स्कूल की विधि व्यवस्था में काफी परेशानी हो रहा था।  जिसके बाद स्कूल प्रबंधक और टीचरों के बीच एक बैठक आयोजित की गई।

जिसमें  सर्वसम्मति से स्कूल के सीनियर शिक्षिका कुमारी किरण माला को प्रधानाध्यापिका पद सौंपा गया है। स्कूल में टोटल 9 टीचर हैं, जबकि छात्र छात्राओं की संख्या 277 है। स्कूल में 8 क्लास तक की पढ़ाई होती है।

फिलहाल लॉकडाउन होने के कारण स्कूल में पठन-पाठन का कार्य बंद है। मगर सरकार द्वारा शिक्षकों को अनेक जिम्मेदारी दी गई है, जिसके चलते लॉकडाउन में भी स्कूल खोलने का आदेश है।

हालांकि, छात्र-छात्राओं के बीच एमडीएम के चावल व छात्रवृत्ति के पैसे वितरण करना लॉक डाउन की सबसे बड़ी परेशानी शिक्षको को झेलनी पड़ रही है।

पदभार संभालने पर बधाई देने वालों में स्कूल के शिक्षक सतीश बड़ाईक, मो. मुस्तफा अंसारी, आशा कुमारी, संगीता कुमारी, निर्मला कुजूर, अनुपा शैलबाला कुजूर, प्रभादेवी, सुषमा देवी आदि शामिल हैं।