ओरमांझी में एक कोरोना पोजेटिव मिलते ही पुलिस-प्रशासन चुस्त

0

ओरमांझी (मोहसिन)। ओरमांझी प्रखंड मुख्यालय से बामुश्किल एक किलोमीटर दूरी पर एनएच-33 फोरलेन किनारे अवस्थित एक गांव में एक महिला कोरोना मरीज पाये जाने के बाद पुलिस टीम चिकित्सा टीम व अंचलाधिकारी ने लोगों को कोरोना को लेकर सतर्कता बरतने की अपील की। मरीज के परिजनों को घर के अंदर ही रहने को कहा गया।

मालूम हो कि जिस महिला को कोरोना पोजेटिव पाया गया है, उस महिला का इलाज मेदान्ता हॉस्पिटल इरबा में पांच दिन पहले चल रहा है। उसे हर्ट का बीमारी है।

गुरुवार की सुबह सीएचसी की चिकित्सा प्रभारी रेनू बाखला के नेतृत्व में चिकित्सा टीम मरीज के घर पहुंच कर परिजनों से सैंपल लिया और जांच के लिए भेज दिया।

इसके बाद दोपहर में सिल्ली डीएसपी चन्द्र शेखर आजाद ,अंचल अधिकारी शिव शंकर पाण्डे, ओरमांझी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर श्याम किशोर महतो मरीज के गांव पहुंचकर क्षेत्र का जायजा लिया।

महिला के घर से 200 फीट की दूरी को प्रशासन द्वारा कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया। मरीज के घर की तरफ आने जाने वाले चार रास्तों को सील कर दिया गया है।

स्थानीय लोगों ने 4 जगहों पर बांस का घेराव कर दिया है, ताकि लोग अनावश्यक इधर-उधर घूमते न फिरे। वही कंटेनमेंट जोन के अंदर की दुकानों को डीएसपी द्वारा बंद करने की बात कही है।

प्रशासन ने मस्जिद के माध्यम से ऐलान करवाया कि कोई व्यक्ति घर से ना निकले।  सतर्कता ही कोरोना बीमारी से बचाव का उपाय हैं।

ग्रामीणों ने गांव को सैनिटाइज करने व गंदे जगहों में ब्लीचिंग छिड़कने का अधिकारियों से मांग की। गांव के लोग काफी डरे सहमे से है। लोग घरों से नहीं निकल रहे हैं।