अन्य

    पत्थर माफियाओं के तांडव के बीच “तेलकटवा” गिरोह का आतंक

    राजधानी राँची से सटे ओरमांझी प्रखंड के चूटूपालू क्षेत्र में जहां पत्थर(क्रेशर) माफियाओं का क्रूर तांडव जारी है,वे सरेआम प्राकृतिक सौंदर्य-वन संपदा को भ्रष्ट व निकम्मे शासन व्यवस्था की सांठ-गांठ से नष्टorma+(1) कर रहे हैं,उसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है. दूसरी तरफ यहाँ एक और माफिया वर्ग ने अपनी जकड़ मजबूत कर ली है और वह वर्ग है स्थानीय पुलिस-प्रशासन की मिलीभगत से निजी तेल कंपनियों को भारी चूना लगानेवाला.
    nidhiगौर से देखिये इन चित्रों को. यह स्थान “तेलकटवा” गिरोह का एक प्रमुख जगह मानी जाती है.यहाँ तेल टैंकरों के ड्राईवरों को मामूली कीमत देकर या डरा-nidhi1धमका कर भारी पैमाने पर डीजल/पेट्रोल की हेरा-फेरी की जाती है और माफियाओं द्वारा बाजारू कीमत से कम दर पर बेची जाती है. इन सबकी जानकारी तेल कंपनियों,उसके प्रतिनिधियों व पेट्रोलपंपों के मालिकों को होने के बाबजूद इस गोरखधंधे का दिन पर दिन फलते-फूलते जाना अनेक रहस्य भी प्रकट करतें है.

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Related news